Home उत्तराखंड शिक्षकेत्तर कर्मचारी यूनियन ने खोला प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

शिक्षकेत्तर कर्मचारी यूनियन ने खोला प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

Non-teaching staff union opened front against the administration
Non-teaching staff union opened front against the administration

Non-teaching staff union opened front against the administration
हरिद्वार। शिक्षकेत्तर कर्मचारी यूनियन ने गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कर्मचारियों की मांगो को लेकर मोर्चा खोल दिया है। कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी मांगों को लेकर प्रशासन से लम्बी चोड़ी वार्ता भी कर चुके हैं लेकिन नतीजा शून्य ही रहा है। पिछले कई बार प्रशासन और यूनियन के बीच घंटों वार्ता हुई, फिलहाल प्रशासन केवल निराशा ही कर्मचारियों के आयी। शिक्षकेत्तर कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष रजनीश भारद्वाज ने गणित एवं सांख्यिकीय विभाग के सभागार में कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रशासन कर्मचारियों की मांगों को पूरा करना नही चाहता है। प्रशासन का ढूलमूल रवैया यह बताता है कि प्रशासन द्वारा कार्यरत कर्मचारियों का मात्र शोषण करना है। सभागार में विश्वविद्यालय के सभी कर्मचारी एकत्रित हुए और बैठक कर प्रशासन के खिलाफ बिगुल बजाने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा सभी कर्मचारियों का विश्वास मेरी शक्ति है।
इस अवसर पर महामंत्री नरेन्द्र मलिक ने कहा कि कर्मचारियों ने वर्तमान प्रशासन को गद्दी पर बैठाया मगर प्रशासन द्वारा कर्मचारियों के हित में एक साल बितने तक एक भी काम सार्वभौमिक रूप से नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि प्रशासन के अधिकारी कर्मचारियों के पदाधिकारियों को गुमराह कर रहे हैं। जब-जब विश्वविद्यालय पर खतरे के बादल मंडराए उस समय शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने अपनी जान न्यौछावर कर विश्वविद्यालय को बचाने का काम किया। वर्तमान प्रशासन कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। इस व्यवहार को कर्मचारी किसी भी कीमत पर सहन करने का तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रशासन को एक सप्ताह का समय दिया जा रहा है। यदि एक सप्ताह के अन्दर कर्मचारियों की मांगो को पूरा नहीं किया गया तो सभी कर्मचारी प्रशासन के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने के लिए मजूबर हो सकते हैं।
इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष प्रमोद कुमार ने कहा कि कर्मचारियों के हित में जो निर्णय यूनियन के पदाधिकारियों द्वारा लिया जाएगा। उसके लिए वह कंधे से कंधा मिलाकर काम करेंगे। शशिकांत शर्मा ने कहा कि कर्मचारियों की सभी मांगे जायज है प्रशासन को उन्हें तत्काल प्रभाव से समाधान करना चाहिए। प्रशासन द्वारा इन सभी मांगों को अधर में लटकाया जा रहा है और कर्मचारियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
इस अवसर पर डा0 अनिल धीमान, दीपक वर्मा, मंजित सिंह, सत्यदेव, मनोज कुमार, गुरप्रित सिंह, संजीव मिश्रा, वीरेंद्र सिंह, वीरेंद्र पटवाल, मदन मोहन सिंह, सुशील रौतेला, नारायण सिंह नेगी, सतीश कुमार, जितेन्द्र सिंह, संतोष कुमार, ललित सिंह नेगी, अरुण कुमार, विकास देशवाल, दीपक नेगी, भारत, जसवीर सिंह, बलवंत सिंह, कमल सिंह, कुलदीप कुमार, देवानन्द जोशी, संजय वर्मा, धनपाल सिंह, समीर, इ्रसम सिंह, बाबादीन गुप्ता, प्रिंस राणा, गोपाल राणा, संदीप कुमार साहु, अर्जुन सिंह, नीरज कुमार, पवन राजपूत  आदि उपस्थित रहे |