Home उत्तराखंड अल्मोड़ा पुलिस की कार्यवाही में एम्बुलेंस से 32 लाख से अधिक का...

अल्मोड़ा पुलिस की कार्यवाही में एम्बुलेंस से 32 लाख से अधिक का गांजा बरामद, 01 गिरफ्तार

Ganja worth more than Rs 32 lakh recovered from ambulance in Almora police action, 01 arrested

अल्मोड़ा(आरएनएस)। भतरौजखान पुलिस ने एक एम्बुलेंस से 32 लाख से अधिक कीमत का गांजा बरामद किया है। एम्बुलेंस से 16 कट्टों में कुल 218.195 किलोग्राम गांजा बरामद हुआ। सीएम के “ड्रग्स फ्री देवभूमि मिशन 2025” को सफल बनाने के लिए एसएसपी अल्मोड़ा रामचन्द्र राजगुरु ने आदेश जारी किए हैं। आदेश के अनुपालन में सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा व सीओ ऑपेरशन अल्मोड़ा विमल प्रसाद के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष भतरौजखान मदन मोहन जोशी के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा कार्रवाई अमल में लाई गई। सोमवार को मोहान बैरियर पर चेकिंग की जा रही थी। इस दौरान एक एम्बुलेंस संख्या एमपी17जी 3387 मरचूला की तरफ से आती दिखाई दी। पुलिस टीम द्वारा उक्त एम्बुलेंस को रोका व मरीज के बारे में पूछा तो चालक द्वारा इमरजेंसी में मरीज को रामनगर ले जाना है बताया गया। एम्बुलेंस की खिड़की के शीशे से अंदर झांककर देखा तो कोई मरीज अंदर नही दिखाई दिया। पुलिस टीम को शक होने पर एम्बुलेंस चैक कराने को कहा तो चालक के बगल में बैठा व्यक्ति एम्बुलेंस से उतरकर मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया। थानाध्यक्ष भतरौजखान द्वारा एम्बुलेंस चालक को उतारकर एम्बुलेंस को चेक किया गया तो एम्बुलेंस में मरीज की जगह 16 कट्टों में गांजा भरा हुआ बरामद हुआ। पूछताछ में एम्बुलेंस चालक ने अपना नाम रोशन कुमार निवासी स्यून्सी, थलीसैंण, जिला पौड़ी गढ़वाल और साथी का नाम धर्मेन्द्र बताया। एएम्बुलेंस से गांजा बरामद होने पर त्वरित कार्रवाई की गई। अभियुक्त को गिरफ्तार व गांजा तस्करी में प्रयुक्त एम्बुलेंस को सीज करते हुए आरोपियों के विरुद्ध थाना भतरौजखान में एनडीपीएस एक्ट के तहत एफआईआर पंजीकृत किया गया। मामले में थानाध्यक्ष भतरौजखान मदन मोहन जोशी द्वारा पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह सचल चिकित्सा वाहन एम्बुलेंस (जो किसी एनजीओ की है) में ड्राईवर का कार्य करता है। उक्त वाहन से गांव-गांव चिकित्सकों ले जाकर मरीजों को उपचार दिया जाता है। फरार व्यक्ति का नाम धर्मेन्द्र है जो उसके ही गांव का ही रहने वाला है। वह इस वाहन में परिचालक का कार्य करता है। उक्त गांजा सराईखेत में एक व्यक्ति ने दिया था जिसे उन्हें काशीपुर पहुचाना था। जिसके एवज में उन्हें पैसे मिलने थे। पुलिस टीम की चेकिंग के दौरान गिरफ्त में आ गया। विवेचना के दौरान किसी अन्य की संलिप्तता पाये जाने पर संबंधित के विरुद्ध भी आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। फरार अभियुक्त धर्मेन्द्र की तलाश जारी है। गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम में थानाध्यक्ष भतरौजखान मदन मोहन जोशी, उपनिरीक्षक राम सिंह, हेड कांस्टेबल आनन्द त्रिपाठी, प्रकाश चन्द्र, योगेश कुमार, संदीप सिंह, कांस्टेबल देवेन्द्र प्रताप शामिल रहे।