Home उत्तराखंड नींबू का इस्तेमाल करने का यह है सही तरीका, इन खाने वाली...

नींबू का इस्तेमाल करने का यह है सही तरीका, इन खाने वाली चीजों के साथ कॉम्बिनेशन करने से बचें

आम बोलचाल की भाषा में एक कहावत बेहद मशहूर है प्रतिदिन एक सेब डॉक्टर से दूर रखता है. हालांकि, नींबू के लिए भी क्या यही कहा जा सकता है? नींबू जोकि विटामिन सी से भरपूर है और अगर इसे रोजाना खाया जाए तो आपकी इम्युनिटी मजबूत हो जाएगी. एक रिसर्च के मुताबिक कुछ ऐसे लोगों पर रिसर्च किया गया जो रोजाना नींबू खाते थे. इस रिसर्च में सबसे हैरान करने वाली बात यह सामने आई कि उनकी औसत लाइफ उन लोगों की की तुलना में लगभग 3 सप्ताह अधिक थी जो बिल्कुल भी नींबू नहीं खाते थे. नींबू एक खट्टा फल है. किसी भी खाने वाली चीज में स्वाद बढ़ाने के लिए नींबू का इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कुछ चीजों के साथ नींबू का कॉम्बिनेशन करने से बचना चाहिए नहीं तो यह सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है.

दूध या डेयरी प्रोडक्ट के साथ नींबू खाने से बचें

जब भी हम घर पर पनीर बनाते हैं तो हम अक्सर खौलते हुए दूध में नींबू का रस निचोड़ते हैं और फिर इसी प्रोसेस से पनीर निकालते हैं. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नींबू में मौजूद एसिड डेयरी में प्रोटीन के लेवल में गड़बड़ी मचा सकती है. जिसके कारण यह गांठ बन जाती है . इसके अलावा, डेयरी प्रोडक्ट और नींबू खाने से शरीर में अम्लीय प्रतिक्रिया हो सकती है और गंभीर सीने में जलन और एसिडिटी हो सकती है. तो आप क्या कर सकते हैं, जब आप अपने डेयरी-आधारित डेसर्ट या सॉस में खट्टा स्वाद जोडऩा चाहते हैं तो नींबू के छिलके या नींबू के स्वाद वाले सिरप का इस्तेमाल करें.

रेड वाइन

नींबू का इस्तेमाल कई कॉकटेल और बियर के साथ किया जाता है. हालांकि, नींबू और रेड वाइन कभी भी साथ में नहीं पीना चाहिए. नींबू की अम्लता रेड वाइन में मौजूद टैनिन को प्रभावित कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप वाइन का स्वाद कड़वा हो जाता है. इसीलिए, रेड वाइन से बने सॉस या मैरिनेड में नींबू का इस्तेमाल न करें. यदि आप अपने खाने के साथ वाइन का आनंद लेना चाहते हैं, तो व्हाइट वाइन पिएं.

मसालेदार खाने के साथ नींबू का इस्तेमाल न करें

इंडियन किचन की जान है नींबू. नींबू का नेचर एसिडिक होता है. इसलिए अगर आप इसे मसालेदार खाने के साथ इस्तेमाल करेंगे तो यह शरीर की गर्मी बढ़ाने के साथ-साथ पाचन संबंधी दिक्कते भी पैदा कर सकती है. मसालेदार खाने में नींबू का इस्तेमाल टेस्ट को बिगाड़ सकता है.

गर्म खाने में नींबू का इस्तेमाल न करें

नींबू खाने का सबसे बड़ा फायदा इससे मिलने वाला विटामिन सी है. हालांकि, विटामिन सी काफी ज्यादा गर्मी के प्रति संवेदनशील है और गर्मी से आसानी से नष्ट हो सकता है. इसलिए, ऐसे खाने पर नींबू का रस डालने से बचें जो अभी भी भाप बन रहा हो. आंच पर हो. आप अपने पके हुए खाने में नींबू डालकर इस्तेमाल कर सकते हैं.

पपीता

नींबू का रस एक पसंदीदा सलाद ड्रेसिंग है और फलों की मिठास को खट्टा स्वाद देने के लिए अक्सर फलों के सलाद में इसका उपयोग किया जाता है. हालांकि, नींबू के साथ मिलाने पर सभी फल अच्छा काम नहीं करते हैं. पपीता एक ऐसा फल है जो संतरे, अंगूर या नींबू जैसे किसी भी खट्टे फल के साथ मिलाने पर फायदे से ज्यादा नुकसान पहुंचाता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि पपीते में ही उच्च मात्रा में विटामिन सी होता है, जो नींबू जैसे विटामिन सी से भरपूर अन्य स्रोतों के साथ मिलकर एसिड रिफ्लक्स, सीने में जलन और पेट में जलन पैदा कर सकता है.